Rajasthan me krishi - (राजस्थान में कृषि) - Agriculture in Rajasthan

राजस्थान में कृषि - Rajasthan me krishi

राज्य की लगभग 70% जनसंख्या को कृषि और उससे संबंधित क्षेत्रों से रोजगार प्राप्त होता है।
Rajasthan me krishi

राज्य के कुल भौगोलिक क्षेत्र में से 27.7 लाख हेक्टेयर क्षेत्र कृषि के लिए उपयुक्त है। इसमें से 18.6 लाख हेक्टेयर पर कृषि की जा रही है। राज्य के कुल कृषि योग्य क्षेत्र के लगभग 30% भाग में सिंचाई की सुविधा उपलब्ध है। राज्य में कृषि प्राथमिक रूप से वर्षा पर निर्भर है।

70 प्रतिशत भाग पर को एवं नलकूपों के माध्यम से सिंचाई होती है।
राज्य में सकल सिंचित क्षेत्र का सर्वाधिक प्रतिशत श्रीगंगानगर जिले में है। अधिकांश कृषि योग्य भूमि पर मानसून के समय ही कृषि की जाती सकती है अतः राजस्थान में कृषि को मानसून का जुआ भी कहा जाता है।

राज्य में जायद की मुख्य फसलें उड़द मूंग तरबूज कद्दू वर्गीय सतर्कताओं आदि है।  जायद उड़द व मूंग का उत्पादन बांसवाड़ा जिले में होता है।  जबकि जायद कद्दू वर्गीय सब्जियों का उत्पादन गंगानगर और हनुमानगढ़ जिले में होता है।

Rajasthan Gk important Question Answers

जायद मूंगफली का उत्पादन उदयपुर- चित्तौड़गढ़ और भीलवाड़ा जिले में होता है।

इसबगोल के उत्पादन में राजस्थान का उत्पादन के बाद दूसरा स्थान है।

संतरो के उत्पादन में राजस्थान का तीसरा और मोसंबी और किन्नू के उत्पादन में चौथा स्थान है।

राज्य में सर्वाधिक फल झालावाड़ से और मसालों का बारां जिले से उत्पादन होता है।

राज्य में गंगानगर के किन्नू एवं माल्टा, भवानी मंडी का संतरा, जालौर का जीरा, नागौर की मैथी, जयपुर की हरी सब्जियां,पाली की मेहंदी और पुष्कर के गुलाब प्रसिद्ध है।  गुलाब की रोज इंडिया किस्म का उत्पादन पुष्कर में सर्वाधिक में होता है

राज्य की प्रमुख फसलें व उत्पादन क्षेत्र-

चावल:-

चावल के लिए पर्याप्त वर्षा 100 सेंटीमीटर से 150 सेंटीमीटर और उच्च तापमान की आवश्यकता होती है, जल की आपूर्ति सिंचाई से होने पर  चावल का उत्पादन हो जाता है।  राज्य के 1.4 लाख हैक्टेयर से अधिक क्षेत्र में चावल या धान की कृषि की जाती है।  राज्य के कोटा, बूंदी, बांसवाड़ा डूंगरपुर, उदयपुर ,बारां, हनुमानगढ़, गंगानगर जिला प्रमुख उत्पादक जिले हैं।

चावल की यहाँ एक नई किस्म "मोही सुगंधरा" का उत्पादन किया जा रहा है।

गेहूं:-

गेहूं उत्पादन में राजस्थान भारत का पाँचवा बडा राज्य है।इसकी कृषि के लिए 50 सेंटीमीटर से 100 सेंटीमीटर वर्षा वाले क्षेत्र उपयुक्त है राज्य में लगभग 17.7 लाख हेक्टेयर भूमि पर गेहूं की खेती की जाती है जो राज्य के कुल क्षेत्र का लगभग 9.6% है।

गेहूं उत्पादन में श्रीगंगानगर जिले का पहला स्थान है।

महत्वपूर्ण तथ्य:-


जवार, बाजरा सरसों, इसबगोल, मेथी, धनिया, मोठ और जीरा उत्पादन में राजस्थान का पहला स्थान है।

चन्ना जौ ,मक्का और दलहन के उत्पादन में राजस्थान का भारत में दूसरा स्थान है।


राज्य में राजकीय एगमार्क प्रयोगशालाओ की संख्या 13 है।

यह प्रयोगशाला अलवर, बीकानेर, ब्यावर, जयपुर दोसा, सुमेरपुर, उदयपुर, जोधपुर, गंगानगर, हनुमानगढ़ निवाई एवं भरतपुर में स्थित है।


सूरतगढ़ यांत्रिक फॉर्म की स्थापना 1956 में रूस के सहयोग से श्री गंगानगर जिले के सूरतगढ़ तहसील में की गई इस फॉर्म के तहत 12268 हेक्टेयर भूमि है।  यह भारत का सबसे बड़ा यंत्रीकृत कृषि फार्म है।


जैतसर यांत्रिक फॉर्म की स्थापना  रूस के सहयोग से श्री गंगानगर जिले के जैतसर तहसील में की गई इस फॉर्म के तहत 30000 हेक्टेयर भूमि है।


दक्षिणी पूर्वी राजस्थान में की जाने वाली स्थानांतरण शील कृषि को बत्रा कहा जाता है।


राष्ट्रीय सरसों अनुसंधान केंद्र भरतपुर जिले के सेवर नामक स्थान में स्थित है।


राज्य में खाद्य प्रसंस्करण को बढ़ावा देने के उद्देश्य से भूरी क्रांति चलाई गई


नेशनल रिसर्च सेंटर फॉर एरिड हॉर्टिकल्चर बीकानेर में स्थित है।


नेशनल रिसर्च सेंटर फॉर रेपसीड एवं मस्टर्ड भरतपुर में स्थित है।


सेंट्रल एरिड जोन रिसर्च इंस्टीट्यूट जोधपुर में स्थित है।


सेंट्रल शीप एंड वूल रिसर्च इंस्टीट्यूट अंबिकानगर में स्थित है।

कृषि क्षेत्र की क्रांतियां - Krishi ki krantiyan

  1. हरित क्रांति- खाद्यान्न उत्पादन
  2. नीली क्रांति- मत्स्य उत्पादन
  3. पीली क्रांति- तिलहन उत्पादन
  4. श्वेत क्रन्ति- दुग्ध उत्पादन
  5. भूरी क्रांति- ख़ाद्य प्रसंस्करण

प्रदेश के लघु और लघु सीमंत कृषकों को अच्छे कृषि उपकरण उपलब्ध कराने के लिए कस्टम हायरिंग सेंटर योजना शुरू की गई।

"स्वस्थ धरा खेत हरा" का विज़न रखते हुए माननीय प्रधानमंत्री जी के द्वारा 19 फरवरी 2015 को प्रदेश के सूरतगढ़ में सोयल हेल्थ कार्ड योजना का उद्घाटन किया गया था।  इस योजना के तहत जनवरी 2017 तक 29 लाख सोयल हेल्थ कार्ड किसानों को उपलब्ध कराए गए।

Rajasthan me krishi:-
राजस्थान कृषि से संबंधित महत्वपूर्ण प्रश्नोत्तरी:-

◆ राजस्थान में कुल कितने कृषि विश्वविद्यालय है?
Ans:  2
◆राजस्थान में सर्वाधिक उत्पादन वाली फसल है ?
Ans: खरीफ

◆राजस्थान के किस जिले में गेहूं का सर्वाधिक उत्पादन होता है
Ans:. श्री गंगानगर

◆जौ का उत्पादन किस समय होता है
Ans: रबी

◆इंद्रधनुष क्रांति का संबंध किससे है?
Ans: कृषि एवं सबंधित क्षेत्र से

◆सेवण घास मुख्यतः किस जिले में पाई जाती है
Ans: जैसलमेर

◆किसकी उपज के लिए नागौर प्रसिद्ध है
Ans: मैथी

◆मसालों का उत्पादन सर्वाधिक किस जिले में होता है
Ans: बारां

◆ राजस्थान में खस का उत्पादन किस जिले में होता है
Ans: भरतपुर

 ◆राजस्थान में मक्का की फसल किस जिले का मुख्य खाद्यान्न है
Ans: बाँसवाड़ा

◆राजस्थान का कौनसा जिला इसबगोल जीरा व टमाटर के उत्पादन हेतु प्रसिद्ध है
Ans: जालोर

◆इसबगोल के उत्पादन में राजस्थान का भारत में कौनसा स्थान है
Ans: प्रथम

◆किस फसल का 80% क्षेत्र मरुस्थलीय जिलो के अंतर्गत आता है
Ans: बाजरा

◆फसल उत्पादन की दृष्टि से राज्य का प्रमुख जिला है
Ans: गंगानगर

◆ राजस्थान में सबसे बड़ा कृषि फार्म कब स्थापित किया गया
Ans: 15 अगस्त 1956

◆राजस्थान में कपास का सर्वाधिक उत्पादन कहां होता है
Ans: हनुमानगढ

◆ राजस्थान उत्पादन में देश में प्रथम है
Ans: सरसों

◆देश में राजस्थान किस का एकमात्र सबसे बड़ा उत्पादक है
Ans: सरसों

 ◆बांसवाड़ा से कोटा के अतिरिक्त किसी अन्य शहर में ट्रेसर विकास कार्यक्रम चल रहा है
Ans: उदयपुर

◆राजस्थान में भूरी क्रांति का संबंध है
Ans: खाद्यान

◆देश में राजस्थान किस का प्रमुख उत्पादन है
Ans: बाजरा

◆राजस्थान में मेवानगर किसके लिए प्रसिद्ध हैं
Ans: जीरे के उत्पादन के लिए



Post a Comment

0 Comments